PNG क्या है? PNG kya hai | PNG फाइल कैसे बनाये

PNG, यानी Portable Network Graphics, एक ग्राफिक्स फ़ाइल प्रारूप है जो इंटरनेट पर छवियों और ग्राफिक्स को स्टोर और डिस्ट्रिब्यूट करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसका उपयोग आमतौर से वेब डिज़ाइन, एप्लीकेशन्स, और अन्य ग्राफिक्स कार्यों में किया जाता है। इस लेख में, हम PNG kya hai इसके बारे में विस्तार से जानेंगे।

PNG kya hai

PNG यानि “पोर्टेबल नेटवर्क ग्राफिक्स” (Portable Network Graphics) एक प्रकार की इमेज फ़ाइल है जिसका विकास इंटरनेट पर चित्रों को बेहतरीन तरीके से प्रसारित करने के लिए किया गया था। यह फ़ाइल फ़ॉर्मेट आमतौर पर छवियों, चित्रों, या ग्राफिक्स को स्टोर और डिस्ट्रिब्यूट करने के लिए उपयोग किया जाता है। PNG का प्रमुख उद्देश्य छवियों को कम प्रतिबिम्बन या गुणवत्ता की कमी के साथ संचित करना है ताकि यह वेबसाइटों, एप्लिकेशन्स, और अन्य डिजिटल माध्यमों पर अधिक संचार योग्य बन सकें।

PNG kya hai

पीएनजी का अर्थ-

पीएनजी का अर्थ है “यूनिक पोर्टेबल नेटवर्क ग्राफिक्स”। यह एक फ़ाइल प्रारूप का नाम है जो छवियों और ग्राफिक्स को संचित करने के लिए प्रयुक्त होता है। इसे इंटरनेट पर छवियों को साझा करने के लिए विकसित किया गया है और इसमें छवियों को कंप्रेस करने की क्षमता, ट्रांसपेरेंसी का समर्थन, और उत्कृष्ट गुणवत्ता की सुविधा होती है।

इसके साथ ही, पीएनजी फ़ाइल प्रारूप ने इंटरनेट पर ग्राफिक्स को साझा करने की प्रक्रिया को सरल बना दिया है। इसका उपयोग आमतौर पर वेबसाइट डिज़ाइन, ब्लॉगिंग, सोशल मीडिया, ई-कॉमर्स, गेमिंग, और अन्य डिज़ाइन संबंधित क्षेत्रों में किया जाता है। इसकी पॉपुलैरिटी का मुख्य कारण है इसकी उच्च गुणवत्ता, संचित फ़ाइलों का कम आकार, और विभिन्न सॉफ़्टवेयरों में इसका समर्थन।

PNG का इतिहास-

PNG का विकास 1990 के दशक में हुआ था, जब तकनीकी समस्याएँ छवियों को ऑनलाइन साझा करने में आ रही थीं। उस समय, GIF (Graphics Interchange Format) और JPEG (Joint Photographic Experts Group) जैसे फ़ाइल प्रारूप सामान्य थे, लेकिन ये फ़ाइलें चरित्र और रंगों की सीमा में थीं। PNG का उद्गम इस समस्या को हल करने के लिए हुआ था।

PNG को यूनिवर्सल ग्राफिक्स फ़ाइल प्रारूप के रूप में डिज़ाइन किया गया था, जिसमें बिना किसी जानकारी की हानि के छवियों को संग्रहित किया जा सकता है। PNG को बनाने वाले कई विकासकर्ताओं का संयोजन था, और इसका मुख्य उद्देश्य छवियों को बिना किसी डेटा की हानि के सहेजना था।

PNG के प्रकार-

PNG तीन प्रमुख प्रकार के होते हैं-

  • PNG-8- यह एक 8-बिट फ़ाइल फ़ॉर्मेट है जिसमें केवल 256 रंगों का समर्थन होता है। यह फ़ाइल फ़ॉर्मेट छोटी छवियों और अनुकूलन के लिए उपयोगी होता है।
  • PNG-24- यह एक 24-बिट फ़ाइल फ़ॉर्मेट है जिसमें लाखों रंगों का समर्थन होता है। यह अधिक गहरी छवियों और छवियों के लिए उपयोगी होता है जो अधिक विविधता और रंगीनता की आवश्यकता होती है।
  • PNG-32- यह एक 32-बिट फ़ाइल फ़ॉर्मेट है जिसमें लाखों रंगों का समर्थन होता है और इसमें अल्फा-चैनल्स भी शामिल होते हैं। यह छवियों के साथ अधिक अनुकूलन की सुविधा प्रदान करता है जैसे कि छवियों को पारदर्शी बैकग्राउंड में प्रदर्शित करने के लिए।

पीएनजी कैसे काम करता है-

पीएनजी फ़ाइलें बिना किसी क्वालिटी लॉस के छवियों को संग्रहीत करने के लिए उपयोग की जाती हैं। यह यूनिक पिक्सल के रूप में छवियों को संग्रहित करता है, जो छवियों के रंग, आभास, और अन्य गुणों को संदर्भित करते हैं। इसके अलावा, पीएनजी फ़ाइलें छवियों के साथ-साथ अतिरिक्त छवि संग्रहण डेटा भी संग्रहित कर सकती हैं, जैसे कि छवियों का टेक्स्ट, विवरण, या अन्य मेटा डेटा।

PNG फाइल कैसे बनाये-

PNG फाइल बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें-

  • छवि तैयार करें- सबसे पहले, आपको एक छवि तैयार करनी होगी जिसे आप PNG फाइल के रूप में सहेजना चाहते हैं। आपको ग्राफिक्स डिज़ाइन सॉफ़्टवेयर जैसे Adobe Photoshop, GIMP, या Paint जैसे सॉफ़्टवेयर का उपयोग करके छवि बनानी होगी।
  • छवि को एक्सपोर्ट करें- जब आपकी छवि तैयार हो जाए, तो आपको उसे PNG फाइल फॉर्मेट में एक्सपोर्ट करना होगा। आप अपने उपयोग किए जा रहे सॉफ़्टवेयर में “सेव के लिए” या “एक्सपोर्ट” विकल्प का चयन करें, और फिर PNG फाइल का नाम और स्थान निर्दिष्ट करें।
  • Save- अंत में, आपको छवि को save कर देना होगा। आपने चयनित स्थान पर छवि को save  करने के लिए “save” या “ओके” बटन पर क्लिक करें। अब आपकी छवि PNG फाइल के रूप में save हो जायेगी।

PNG की विशेषताएँ-

PNG एक ऐसा फ़ाइल प्रारूप है जिसमें कई महत्वपूर्ण विशेषताएँ हैं जो इसे अन्य फ़ाइल प्रारूपों से अलग बनाती हैं।

  1. ट्रांसपैरेंसी (पारदर्शिता)- PNG फ़ाइलें ट्रांसपैरेंसी का समर्थन करती हैं, जिसका मतलब है कि छवियों में अलग-अलग अंशों को पारदर्शी किया जा सकता है। यह विशेषता इसे अन्य फ़ाइल प्रारूपों से अलग बनाती है।
  2. कम डेटा लॉस- PNG फ़ाइलें डेटा को कम डेटा लॉस के साथ सहेजती हैं, यानी कि चरित्र और रंगों को संपूर्णतः बरकरार रखती हैं। इसका मतलब है कि छवियों को कभी भी बिना किसी गुणवत्ता की हानि के सहेजा जा सकता है।
  3. कंप्रेशन- PNG फ़ाइलें आमतौर पर अच्छी तरह से संपीडित होती हैं, जिससे छवियों का आकार कम होता है और वेब पेजों के लोडिंग समय को कम किया जा सकता है।
  4. पोर्टेबिलिटी- PNG फ़ाइलें पोर्टेबल होती हैं, जिसका मतलब है कि यह किसी भी प्लेटफ़ॉर्म पर बिना किसी संशोधन के उपयोग की जा सकती है।

PNG का उपयोग-

PNG का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है, जिसमें निम्नलिखित शामिल हैं-

  • वेब डिज़ाइन- PNG फ़ाइलें वेब डिज़ाइन के लिए पसंद की जाती हैं क्योंकि यह चरित्र और रंगों को बिना किसी गुणवत्ता की हानि के संग्रहित कर सकती हैं। इसके अलावा, यह ट्रांसपैरेंसी का समर्थन करता है जो वेब डिज़ाइन में उपयोगी हो सकता है।
  • छवि संपादन- PNG को छवि संपादन के लिए भी उपयोग किया जाता है, क्योंकि इसमें कम डेटा लॉस होता है और रंगों को बिना किसी गुणवत्ता की हानि के संग्रहित किया जा सकता है।
  • लोगो और आइकन्स- PNG को लोगो और आइकन्स के लिए उपयोग किया जाता है क्योंकि यह ट्रांसपैरेंसी का समर्थन करता है और छोटी आकृतियों को संग्रहित कर सकता है।

पीएनजी की महत्वपूर्णता-

पीएनजी का उपयोग आजकल विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ता जा रहा है और इसकी महत्वपूर्णता भी बढ़ रही है। यह न केवल छवियों को संचित करने में मदद करता है, बल्कि उन्हें व्यापक रूप से संपादित और प्रस्तुत करने की सुविधा भी प्रदान करता है। इसका उपयोग न केवल वेब डिज़ाइन में होता है, बल्कि इसे कंप्यूटर गेमिंग, ग्राफिक्स डिज़ाइन, और अन्य क्षेत्रों में भी उपयोग किया जाता है।

विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफार्म्स, सोशल मीडिया, वेबसाइट्स, ब्लॉग, आदि पर, हमें अक्सर पीएनजी फॉर्मेट में छवियाँ देखने को मिलती हैं। इसका एक मुख्य कारण यह है कि पीएनजी फॉर्मेट छवियों को हाई क्वालिटी में संचित करने के साथ-साथ फ़ाइल का आकार भी कम करता है, जिससे वेब पेज के लोडिंग समय कम होता है और उपयोगकर्ताओं को बेहतर अनुभव प्राप्त होता है।

पीएनजी फाइलें भी इंटरनेट पर जानी जानी छवियों को संपादित करने और इन्हें दूसरों के साथ साझा करने के लिए बहुत अधिक उपयोगी हैं। वेब डिज़ाइनर्स, ब्लॉगर्स, सोशल मीडिया उपयोगकर्ता, ग्राफिक्स डिज़ाइनर्स, कलाकार, और अन्य लोग अक्सर पीएनजी फाइलों का उपयोग करते हैं ताकि उनके काम को अधिक आकर्षक और प्रभावी बनाया जा सके।

PNG और अन्य फ़ाइल प्रारूपों की तुलना-

1. JPEG-

PNG और JPEG दोनों चित्रों को संग्रहित करने के लिए उपयोग किए जाने वाले प्रमुख फ़ाइल प्रारूप हैं, लेकिन वे अलग-अलग उद्देश्यों के लिए होते हैं। JPEG फ़ाइलें चित्रों को कम आकार में संग्रहित करती हैं, लेकिन इसमें जानकारी की कमी होती है, जिससे गुणवत्ता कम होती है। PNG उस समय उपयोगी है जब आप एक चित्र को अधिकतम गुणवत्ता के साथ संग्रहित करना चाहते हैं।

2. GIF-

GIF फ़ाइलें छोटी वीडियो क्लिप्स या संक्षिप्त चित्रों को संग्रहित करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह एक अन्य प्रकार का चित्र प्रारूप है जो PNG की तुलना में अधिक उपयोगी है जब आप वीडियो क्लिप्स या छोटे चित्रों को संग्रहित करना चाहते हैं।

3. TIFF-

TIFF एक अन्य फ़ाइल प्रारूप है जो चित्रों को संग्रहित करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह एक उच्च-गुणवत्ता चित्र प्रारूप है, लेकिन यह PNG की तुलना में अधिक बड़ा हो सकता है और अधिक अंतर्निहित रूप से संग्रहित किया जाता है।

निष्कर्ष-

पीएनजी (PNG) एक लोकप्रिय और प्रभावी ग्राफिक्स फ़ाइल प्रारूप है जो छवियों को बिना किसी क्वालिटी लॉस के संग्रहित करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है, जैसे कि वेब डिज़ाइन, ई-कॉमर्स, और सामाजिक मीडिया। पीएनजी फ़ाइलें छवियों को आसानी से संगठित करने के लिए भी उपयोगी होती हैं और वेब डेवलपमेंट और अन्य डिजिटल मीडिया परियोजनाओं में व्यापक रूप से उपयोग की जाती हैं।

FAQs

PNG और JPEG में क्या अंतर है?

PNG में छवियों की गुणवत्ता को समान रखने के लिए लूसलेस कंप्रेशन का उपयोग किया जाता है, जबकि JPEG में गुणवत्ता कम हो सकती है क्योंकि इसमें लूसी कंप्रेशन का उपयोग होता है। PNG फ़ाइलें ट्रांसपेरेंसी का समर्थन करती हैं, जबकि JPEG नहीं। अंकों की गुणवत्ता के पार, PNG 24 बिट अंकों का समर्थन करता है, जबकि JPEG 8 बिट का समर्थन करता है, जिससे अधिक रंगों का उपयोग किया जा सकता है।

PNG फ़ाइलें कैसे बनाई जा सकती हैं?

PNG फ़ाइलें बनाने के लिए, आपको सबसे पहले छवि बनानी होगी और फिर उसे PNG फ़ॉर्मेट में एक्सपोर्ट करना होगा।

PNG छवियों के उपयोग क्या हैं?

PNG छवियों का उपयोग वेब डिजाइन, लोगो, डिजिटल कला, और अन्य क्षेत्रों में किया जाता है।

PNG किसी भी डिजिटल मीडिया प्लेटफार्म पर समर्थित है?

हाँ, PNG किसी भी डिजिटल मीडिया प्लेटफार्म पर समर्थित है। यह वेबसाइट, सोशल मीडिया, ब्लॉग, ईमेल, ई-बुक्स, गेम्स, आदि जैसे विभिन्न मीडिया प्लेटफार्म्स पर उपयोग के लिए उपयुक्त है। PNG फाइलों का उपयोग अधिकतर छवियों, लोगो, आइकन्स, और अन्य ग्राफिकल तत्वों को संचित, संशोधित, और साझा करने के लिए किया जाता है। इसका मुख्य लाभ यह है कि यह छवियों को किसी भी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर बिना किसी गुणवत्ता की हानि के संचित करने में मदद करता है और विभिन्न प्रकार के डिस्प्ले डिवाइसों पर अच्छी तरह से प्रस्तुत किया जा सकता है।

PNG का उपयोग क्यों अधिक उत्तम है?

PNG छवियों का उपयोग कई कारणों से अधिक उत्तम होता है: लूसलेस कंप्रेशन, ट्रांसपेरेंसी का समर्थन, अधिक रंगों का समर्थन, विशाल समर्थन, और अनुप्रयोगिता।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *