Public speaking tips in hindi | Public speaking | Public speaking skills

दोस्तों आज मै आपको बताऊंगा की आप कही भी फुल कॉन्फिडेंस के साथ कैसे बात कर सकते है? Public speaking tips in hindi.

Public speaking tips in hindi

जब हम पब्लिक स्पीकिंग करते हो तो बहुत सारे लोग होते है, जिसकी वजह से हम डर जाते है..? और पब्लिक के सामने कुछ भी नहीं बोल पाते है..? इसीलिए पब्लिक स्पीकिंग को सीखना बहुत ही जरूरी है|

दोस्तों अगर आप पब्लिक स्पीकिंग को सीख गये तो ये आपको हर जगह काम आयेगी, चाहे आपको पढाई में हो, चाहे बिज़नेस में हो या फिर नौकरी में, कही भी बोलने के लिए एक अच्छे स्पीकिंग की जरूरत होती है|

और अगर ये आपके अंदर है तो आप कही भी चले जाओ आपको बोलने में कोई परेशानी नहीं होगी, और आज के समय में पब्लिक स्पीकिंग की बहुत जयादा डिमांड है, और अगर ये आपके अंदर है तो आप इससे बहुत ज्यादा पैसे भी कमा सकते हो

पब्लिक स्पीकिंग की शुरुवात हमेसा इंटरेस्ट के साथ करे जैसे- कोई जोक, शायरी, कहानी, क्वेश्चन आदि के साथ करे |

Public speaking tips in hindi-

Eye contact- जब भी आप पब्लिक स्पीकिंग करते हो तो वहां पर आपके सामने बहुत सारे लोग होते है..? लेकिन अगर आपको इतने सारे लोगो से डर लगता है तो आप सिर्फ किसी एक इंसान से Eye contact..? करकर अपना स्पीच दे सकते हो| इससे आपको डर भी नहीं लगेगा और आप अपना स्पीच भी अच्छे से दे पाओगे|

Believe in yourself- जब भी आप पब्लिक स्पीकिंग करो तो अपने आप पर पूरा भरोसा रखना की आप जो भी स्पीच देने वाले हो उसे बहुत अच्छे से लोगो के सामने प्रेजेंट कर सकते हो|

हमारा जो Subconscious माइंड है वो इमेजन और रियलिटी में बहुत कम फर्क करता है..? इसीलिए अगर आप खुद पर विश्वास रखते हो की मै अच्छे से स्पीच दे सकता हूँ..? तो हमारे दीमाग को ये लगता है की ये सच में अच्छे से स्पीच देगा और आप बहुत अच्छे तरीके से अपना स्पीच दे सकते हो, इसीलिए जब भी आप स्पीच देने जाओ तो अपने आप पर भरोसा जरूर रखना|

Read more- How to improve communication skills in hindi.

Practice– पब्लिक स्पीकिंग में ये बहुत जरूरी है की आप जिस भी टॉपिक पर स्पीच देना चाहते हो..? उसकी आपको पूरी नॉलेज हो.? अगर आपको नॉलेज नहीं है तो आप स्पीच देने से पहले उसकी अच्छी तरह से प्रैक्टिस कर ले.?  उसके बाद ही लोगो के सामने प्रेजेंट करे. क्योंकि जब आपको उस टॉपिक की अच्छी नॉलेज होगी तो आप उस स्पीच को बहुत अच्छे से दे सकते हो.? इसीलिए कही भी स्पीच देने से पहले उसकी बार-बार प्रैक्टिस जरूर करे|

Deep breathing- स्पीच देने से पहले एक बार Deep breathing? जरूर करे, ये आपके कॉन्फिडेंस और आपके पब्लिक स्पीकिंग को बूस्ट करने में मदत करेगी, Deep breathing? करने से हमारा दीमाग शांत ‘हो जाता है जिससे हम जो भी प्रैक्टिस करते है उसे पब्लिक के सामने बहुत अच्छे से प्रेजेंट कर सकते है|

Public speaking tips in hindi-

AUDIENCE (पब्लिक )-

A-

Analysis- आप कही भी स्पीच देने क्यों न जाये अगर आपको ऑडियंस ही नहीं पता..? की वहां पर कितने लोग होने वाले है तो आप स्पीच को सही तरीके से कभी नहीं दे पाओगे? इसलिए ये जरूरी है की आप जहाँ पर भी जा रहे हो वहां कितनी ऑडियंस है इसकी नॉलेज पहले से ही आपको पता होना चाहिए |

U-

Understanding- आप जिस भी टॉपिक पर स्पीच देने वाले हो उसकी आपको पूरी नॉलेज होना चाहिए, अगर आपके पास उस टॉपिक की पूरी नॉलेज नहीं है तो आप उस टॉपिक पर स्पीच न दे, क्योंकि अगर किसी ने आपसे उस टॉपिक से रिलेटेड कोई सवाल पूछ लिया और उसका आंसर आप नहीं दे पाए तो क्या होगा ये आप खुद ही समझ सकते हो|

D-

Demographics- इसका मतलब है की आप जहा पर अपना स्पीच देने वाले हो वहा पर जो ऑडियंस है उसको उस टॉपिक ( जो आप स्पीच देने वाले हो ) की कितनी समझ है, अगर आप ऑडियंस की डेमोग्राफिक्स को समझ गये तो आप उस हिसाब से अपने टॉपिक की प्रैक्टिस कर सकते है|

I-

Interest- आप जहाँ स्पीच दे रहे हो या देने वाले हो वहां की ऑडियंस के इंटरेस्ट को जानना बहुत जरूरी है, अगर आप ऑडियंस के इंटरेस्ट को समझ गये तो फिर आप उस हिसाब से अपने टॉपिक को और भी अच्छे से प्रेजेंट कर सकते हो|

E-

Expectation- आप जहाँ पर स्पीच देने वाले हो वहां की ऑडियंस आपसे क्या एक्स्पेक्ट कर रही है, क्या आप ऑडियंस को वो चीज दे पा रहे हो जो ऑडियंस आपसे एक्स्पेक्ट कर रही है, अगर आप ऑडियंस को वो चीज दे पा रहे हो जो वो आपसे एक्स्पेक्ट कर रही है तो फिर आप अपना स्पीच सही दे रहे हो|

इसीलिए स्पीच देने से पहले ऑडियंस के Expectation को जानना बहुत ही जरूरी है|

N-

Need– ऑडियंस के जरूरत को समझना उतना ही जरूरी है जितना आपके स्पीच देना जरूरी है..? अगर आप ऑडियंस के जरूरत को नहीं समझेंगे तो आप कभी भी एक अच्छा स्पीच नहीं दे पाएँगे? इसीलिए स्पीच देने से पहले ऑडियंस की Need को अच्छे से स्टडी कर लो|

C-

Customization- आप अपने स्पीच को ऑडियंस के जरूरत के हिसाब से कस्टमाइज कर सकते हो? और ये जरूरी भी है? क्योंकि जब तक आप उनकी जरूरत, उनकी इंटरेस्ट, उनकी Expectation को नहीं समझोगे तब तक आप एक अच्छा स्पीच कभी नहीं दे पाओगे..? इसीलिए स्पीच देने से पहले इन सब चीजो का ध्यान जरूर रखना|

E-

Environment- पब्लिक स्पीकिंग में सबसे जरूरी है एनवायरनमेंट..? की आप किस प्रकार के एनवायरनमेंट में अपना स्पीच दे रहे हो क्या वो कोई स्कूल,कॉलेज है..? या फिर कोई बड़ा ऑडिटोरियम..? जहाँ पर आप अपना स्पीच दे रहे हो, ये आपको पता होना चाहिए की आप किस प्रकार के एनवायरनमेंट में अपना स्पीच दे रहे है|

[अगर आप पहली बार किसी जगह पर पब्लिक स्पीकिंग के लिए जा रहे है तो ऊपर बातये गये पॉइंट को ध्यान में जरूर रखना और उसी (AUDIENCE) के हिसाब से अपने स्पीच की प्रैक्टिस करना और यकीं मनो अगर आपने इन सब पॉइंट को ध्यान में रखकर अपना स्पीच तैयार करते हो तो आप एक ऐसा स्पीच दे पाएँगे जो ऑडियंस के लाइफ को चेंज कर सकती है ]

Public speaking tips in hindi-

तो दोस्तों ये था आज का आर्टिकल जिसमे मैंने आपको बताया की आप किस तरह से पब्लिक स्पीकिंग में मास्टर कर सकते हो और कही भी बिना डरे बात कर सकते हो|

अगर आप मेरे द्वारा बताये गए इन पॉइंट को अच्छे से समझ लेते हो तो आप एक अच्छे स्पीकर जरूर बन सकते हो|

और कैसा लगा आपको हमारा ये आर्टिकल (Public speaking tips in hindi ) मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये|

अगर आपको इस आर्टिकल (Public speaking tips in hindi )? से कुछ भी सीखने को मिलता है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे|

[तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ आपको हमारा ये पब्लिक स्पीकिंग का आर्टिकल पसंद आया होगा, और अगर आपके दीमाग में पब्लिक स्पीकिंग से रिलेटेड कोई भी क्वेश्चन या डाउट हो आप मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो|]

इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे|

धन्यवाद”

Thank You For Reading.

Public speaking tips in hindi- Please Share This Article.

Share this post