WHO kya hai | WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) क्या है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) विश्व भर में स्वास्थ्य की सुरक्षा और सुधार के क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण संगठनों में से एक है। यह संगठन स्वास्थ्य सेवाओं के विकास और सुरक्षा को बढ़ावा देने का कारण बन गया है और इसका कार्यक्षेत्र विश्वभर में फैला हुआ है। इस लेख में, हम जानेंगे कि WHO kya hai, इसका उद्देश्य क्या है, और यह कैसे कार्य करता है।

WHO क्या है? (WHO kya hai)-

WHO, जिसका पूरा नाम “विश्व स्वास्थ्य संगठन” (World Health Organization) है जो कि एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों पर काम करने का दृष्टिकोण रखता है। इसका मुख्यालय जेनेवा, स्विट्ज़रलैंड में स्थित है और इसकी स्थापना 7 अप्रैल 1948 को हुई थी। WHO एक स्वतंत्र अंतरसरकारी संगठन है जो विश्व भर में स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने और स्वास्थ्य सुरक्षित रखने के लिए काम करता है।

इसका मुख्य उद्देश्य सभी लोगों को स्वस्थ जीवन जीने में सहायता करना है और स्वस्थ्य सेवाओं को बढ़ावा देना है। WHO विभिन्न क्षेत्रों में योजनाएं बनाता है जिन्हें लागू करके विश्व स्वास्थ्य को सुधारने का प्रयास करता है। इसके कार्यक्षेत्र में रोग नियंत्रण, वैक्सीन तैयारी, आपदा प्रबंधन, और स्वास्थ्य सेवाओं का सुधार शामिल हैं। WHO एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जिससे समृद्धि और स्वस्थ जीवन की स्थापना की जा सकती है।

WHO kya hai

WHO का इतिहास-

WHO की शुरुआत द्वितीय विश्व युद्ध के बाद हुई थी, जब लोगों ने स्वास्थ्य से जुड़े गंभीर समस्याओं का सामना करना शुरू किया। संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के समय, स्वास्थ्य को लेकर विशेषज्ञों की एक समिति की स्थापना हुई जिसने स्वास्थ्य से संबंधित राष्ट्रों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने का कार्य किया। इस समिति के कार्य के परिणामस्वरूप, WHO की स्थापना हुई और इसका पहला सचिवालय जेनेवा, स्विट्ज़रलैंड में स्थापित किया गया।

WHO की स्थापना 7 अप्रैल 1948 को हुई थी, और यह संगठन तब से ही अपने मुख्यालय को जेनेवा, स्विट्ज़रलैंड में स्थित रखता है। इस संगठन की स्थापना का मुख्य उद्देश्य था सभी लोगों को स्वस्थ रहने और स्वास्थ्य सुरक्षित रखने के लिए विभिन्न राष्ट्रों को एकत्र करना था।

WHO का कार्यक्षेत्र-

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) का कार्यक्षेत्र बहुपरकारी और व्यापक है, जिसमें यह स्वास्थ्य से संबंधित विभिन्न पहलुओं में कार्रवाई करता है। निम्नलिखित है WHO के प्रमुख कार्यक्षेत्र-

  • रोग नियंत्रण और प्रबंधन- WHO रोगों के नियंत्रण और प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह वैक्सीन, उपयुक्त इलाज, और जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से विभिन्न रोगों की प्रबंधन और नियंत्रण में सहायता करता है।
  • आपदा प्रबंधन- WHO आपदा समय में सहायता प्रदान करने के लिए सक्रिय है और दुनिया भर में हो रही आपदाओं में त्वरित प्रतिक्रिया करता है। यह आपदा प्रबंधन की योजनाओं का विकास करता है और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए काम करता है।
  • बच्चों और मातृ स्वास्थ्य- WHO ने बच्चों और मातृ स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई कार्रवाईयाँ की हैं, जैसे कि टीकाकरण, उचित पोषण, और मातृत्व सुरक्षा की बढ़ाई गई।
  • बीमारियों के अध्ययन और अनुसंधान- WHO ने विभिन्न बीमारियों के कारणों, प्रसार, और इलाज के लिए अनुसंधान करने के लिए अपने उपक्रमों को प्रोत्साहित किया है।
  • मानव स्वास्थ्य की गुणवत्ता में सुधार- WHO ने सदस्य देशों को उच्च-तकनीकी और उच्च-गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए मार्गदर्शन किया है।
  • मनोबल स्वास्थ्य- WHO मानव मानसिक स्वास्थ्य के महत्वपूर्ण पहलुओं पर काम करता है और मानव मानसिक स्वास्थ्य को समझाने और उसे समर्थन करने के लिए जागरूकता बढ़ाता है।
  • आरोग्यविद्या और आपदा प्रबंधन- WHO आरोग्यविद्या के क्षेत्र में संगठित जागरूकता कार्यक्रम चलाता है और आपदा प्रबंधन की योजनाएं तैयार करने में सहायक है।
  • स्वास्थ्य सेवाओं की सुधार- WHO सदस्य देशों को स्वास्थ्य सेवाओं की सुधार के लिए मार्गदर्शन करता है और उन्हें उच्चतम मानकों की प्राप्ति में मदद करता है।

WHO के उद्देश्य-

WHO के उद्देश्यों में से प्रमुख हैं-

  1. सभी को स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाना- WHO यह सुनिश्चित करने का प्रयास करता है कि सभी लोग समय पर और सही स्थिति में उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सेवाओं का उपयोग कर सकें।
  2. रोग नियंत्रण- WHO रोगों के नियंत्रण और उनके प्रभावी इलाज के लिए कार्य करता है ताकि आम जनता को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके।
  3. ऐसी स्वास्थ्य सुविधाएं बनाना जो लोगों को जीवन का आनंद लेने में समर्थ बनाए रखें- WHO लोगों को स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने के लिए सामाजिक और आर्थिक संदर्भ में सहायता प्रदान करने का प्रयास करता है।
  4. स्वास्थ्य सुरक्षा और आपातकालीन प्रतिसाद- WHO आपातकालीन परिस्थितियों में स्वास्थ्य सुरक्षा और प्रतिसाद में सहायक बनता है ताकि विश्वभर में त्वरित और संगठित सहायता पहुंच सके।
  5. स्वास्थ्य से जुड़े आधार तथा अनुसंधान- WHO नई तकनीकी और वैज्ञानिक विकासों को समर्थन प्रदान करता है ताकि स्वास्थ्य क्षेत्र में नए उत्पादों और उपायों का निर्माण हो सके।

WHO का संगठन-

WHO एक विश्व संगठन है जिसमें सदस्य देशों की संख्या लगभग 194 है। प्रत्येक सदस्य देश का अपना स्वतंत्र चिकित्सा संस्थान होता है, जो कि उस देश के स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकारी नीतियों को प्रोत्साहित करता है और WHO के साथ सहयोग करता है। सदस्य देशों के प्रतिनिधियों को WHO की मुख्य सभा में मिलता है जहां वे स्वास्थ्य से जुड़े महत्वपूर्ण निर्णयों को लेने में शामिल होते हैं।

WHO का संगठन विश्व स्वास्थ्य संगठन सदस्यों द्वारा निर्धारित किए गए नियमों और स्वीकृतियों के आधार पर किया जाता है। इसमें सदस्य देशों की सभी सरकारें शामिल हैं जो इसे अपनाते हैं और इसके निर्देशन में कार्य करते हैं।

WHO का संगठन विश्व स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान तथा स्वास्थ्य सेवाओं की सुधार को बढ़ावा देने के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म के रूप में कार्य करता है। इसका मुख्य लक्ष्य सभी लोगों को स्वस्थ रहने और स्वास्थ्य सुरक्षित रखने के लिए नीतियों और कार्रवाईयों का समर्थन करना है।

WHO के कार्यकारी सदस्य-

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के कार्यकारी सदस्यों का कार्यक्षेत्र संगठन के महत्वपूर्ण निर्णयों, योजनाओं, और कार्रवाईयों में सहायक भूमिका निभाना है। इन सदस्यों का चयन संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों के बीच होता है और इन्हें विशेषज्ञता रखने वाले व्यक्तियों के रूप में चुना जाता है।

WHO के कार्यकारी सदस्यों की मुख्य जिम्मेदारियाँ निम्नलिखित हैं-

  • महत्वपूर्ण निर्णयों में सहायकता- कार्यकारी सदस्य संगठन के महत्वपूर्ण निर्णयों में सहायक भूमिका निभाते हैं और स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों पर संगठन की दिशा निर्धारित करने में मदद करते हैं।
  • योजनाएं और कार्रवाईयों का समर्थन- वे संगठन की योजनाओं और कार्रवाईयों को समझते हैं और उन्हें समर्थन प्रदान करने के लिए सक्रिय रूप से काम करते हैं।
  • सदस्य देशों के साथ सहयोग- कार्यकारी सदस्य सदस्य देशों के साथ मिलकर स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सहायता प्रदान करने के लिए काम करते हैं।
  • अनुसंधान और विकास में भूमिका- वे नई तकनीकों, उपायों और अनुसंधान की बढ़ती हुई जरूरतों का मूल्यांकन करने में सहायक होते हैं ताकि स्वास्थ्य सेवाएं और तकनीक सुधार सकें।
  • स्वास्थ्य योजनाएं और नीतियों में योजना बनाएं- वे स्वास्थ्य योजनाओं और नीतियों के लिए योजनाएं बनाते हैं और उन्हें लागू करने में मदद करते हैं।
  • संगठन के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए काम करें- वे संगठन के मुख्य उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए काम करते हैं जो सभी लोगों को स्वस्थ रखने और स्वास्थ्य सुरक्षित रखने को समर्थन करना है।
  • विश्व स्वास्थ्य में सहयोग और साझेदारी- वे विभिन्न राष्ट्रों और संगठनों के साथ सहयोग और साझेदारी को बढ़ावा देते हैं ताकि विश्वभर में स्वास्थ्य को बढ़ावा दिया जा सके।

WHO की भूमिका और महत्व-

WHO विश्वभर में स्वास्थ्य सेवाओं की सुधार और सुरक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसका महत्व यह है कि यह एक संगठन है जो सभी देशों को मिलकर स्वास्थ्य के मुद्दों पर काम करने के लिए साथ लाता है। इसके माध्यम से विभिन्न देश एक एक से सीख सकते हैं और अपनी स्वास्थ्य सेवाएं सुधार सकते हैं।

इसका एक और महत्वपूर्ण कारण यह है कि यह एक अनुपम तंत्र है जो वैश्विक स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करने के लिए बनाया गया है। यह दुनिया भर में हो रही महामारियों, बीमारियों, और आपदाओं के प्रबंधन में एक मानक स्थापित करता है जिससे लोगों को सुरक्षित रखा जा सके।

WHO का महत्वपूर्ण कार्य में से एक भी यह है कि यह अन्य संगठनों, राष्ट्रों और स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ सहयोग करता है। इसके सहायक द्वारा नीतियों, अनुसंधान और तकनीकी सहायता की पेशेवर संप्रेषण से यह सुनिश्चित होता है कि सभी क्षेत्रों में सही दिशा में काम हो रहा है।

WHO के प्रमुख कार्य-

1. रोग नियंत्रण और टीकाकरण-

WHO अपने प्रमुख कार्यक्षेत्र में से एक में रोग नियंत्रण और टीकाकरण को बढ़ावा देता है। यह विभिन्न रोगों के खिलाफ टीकाकरण प्रोग्रामों को संचालित करके जनस्वास्थ्य में सुधार करने का प्रयास करता है। टीकाकरण से बचाव और रोगों के प्रति लोगों की सुरक्षा में मदद करना एक महत्वपूर्ण कार्य है।

2. स्वास्थ्य सुरक्षा-

WHO विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं, बीमारियों, और अन्य स्वास्थ्य संबंधित आपत्कालिक परिस्थितियों में स्वास्थ्य सुरक्षा में सहायक कार्य करता है। यह सुनिश्चित करने का प्रयास करता है कि ऐसी स्थितियों में त्वरित और प्रभावी उपाय किए जाएं ताकि स्वास्थ्य को किसी भी प्रकार की खतरे से बचाया जा सके।

3. अनुसंधान और विकास-

WHO वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास को प्रोत्साहित करता है ताकि नए और प्रभावी उपाय और उत्पादों का निर्माण हो सके। यह स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए नई तकनीकों को शामिल करने में सहायक होता है और वैश्विक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है।

4. मां-शिशु स्वास्थ्य और प्रजनन स्वास्थ्य-

WHO मां-शिशु स्वास्थ्य और प्रजनन स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण कार्य करता है। इसका उद्देश्य यह है कि गर्भावस्था, प्रसूति, और शिशु स्वस्थ रहें और सुरक्षित प्रसव हो। इसके अलावा, प्रजनन स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी WHO ने उच्चतम मानकों को साधारित करने के लिए अपने कार्यों में सुधार किया है।

5. आहार और पोषण-

WHO आहार और पोषण के माध्यम से सार्वजनिक स्वास्थ्य को मजबूत करने के लिए काम करता है। इसका मुख्य उद्देश्य है सुनिश्चित करना है कि लोग सही आहार लेते हैं और सही पोषण स्तर को बनाए रखते हैं। यह विभिन्न प्रदूषण और जीवाणुओं से जुड़ी समस्याओं के साथ निपटने के लिए भी उपायों का समर्थन करता है।

6. विश्वविद्यालय और अनुसंधान-

WHO विश्वविद्यालय और अनुसंधान क्षेत्र में भी काम करता है ताकि नई तकनीकी और वैज्ञानिक अद्यतनों को प्रोत्साहित कर सके। इसका मकसद नई और सुधारित उत्पादों और उपायों के माध्यम से स्वास्थ्य क्षेत्र में नए Milestone का निर्माण करना है।

सफलता और चुनौतियाँ-

WHO को अपने योजनाओं में सफलता और चुनौतियों के साथ निपटने में सफलता मिली है। यहां हम देखेंगे कि इस अंतरराष्ट्रीय संगठन ने कैसे अपने मुख्य क्षेत्रों में सफलता प्राप्त की है और कैसे उसे चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

सफलताएँ-

  1. पोलियो के खिलाफ सफल अभियान- WHO ने पोलियो के खिलाफ चल रहे अभियान में सफलता प्राप्त की है और कई देशों में इस बीमारी को समाप्त करने में मदद की है।
  2. TB जागरूकता- स्वस्थ्य से जुड़े मुद्दों पर जागरूकता बढ़ाने के लिए WHO ने टीबी के खिलाफ अपने प्रयासों में सफलता हासिल की है।
  3. हिव/एड्स से लड़ाई- WHO ने विशेषज्ञ सहयोग और जागरूकता के माध्यम से हिव/एड्स से लड़ने में सफलता प्राप्त की है और लोगों को सुरक्षित रखने के लिए कई उपायों की शुरुआत की है।
  4. वैक्सीन वितरण- COVID-19 के समय, WHO ने वैक्सीन वितरण में पहल की है और विभिन्न देशों में वैक्सीनों को पहुंचाने का कार्य किया है।
  5. साझेदारी और योजनाएँ- WHO ने विभिन्न संगठनों, सरकारों और गैर-सरकारी संगठनों के साथ मिलकर कई स्वास्थ्य योजनाएँ बनाई और संचालित की है।

चुनौतियाँ-

  1. विशेषज्ञों की कमी- कुछ क्षेत्रों में विशेषज्ञों की कमी होने के कारण, विशेषकर सावधानियों के संबंध में चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।
  2. वित्तीय स्थिति- WHO का बजट वित्तीय संकटों के चलते कभी-कभी प्रभावित हो सकता है, जिससे कुछ प्रोजेक्ट्स को पूरा करने में कठिनाई हो सकती है।
  3. समझदारी में कमी- कई बार समझदारी में कमी के कारण, लोग गलत धारणाओं में आ सकते हैं, जिससे संगठन को अधिक परेशानी हो सकती है।
  4. महामारी से निपटना- स्वास्थ्य संगठन के रूप में, यह चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि यह विभिन्न राष्ट्रों के बीच तेज़ी से फैलने वाली महामारियों का सामना करना पड़ता है।
  5. सामाजिक और धार्मिक विभाजन- कई बार, सामाजिक और धार्मिक विभाजनों के कारण, कुछ क्षेत्रों में उच्चाधिकारिकों को सही समर्थन प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है और उन्हें लोगों के साथ सहयोग करने में चुनौती हो सकती है।

निष्कर्ष-

WHO kya hai- विश्व स्वास्थ्य संगठन एक ऐसा संगठन है जो समृद्धि, समर्थन और समाज के लिए स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रमुख योगदान कर रहा है। इसके कार्यक्षेत्र में हर क्षेत्र में उच्चतम मानकों की प्राप्ति के लिए उत्साही प्रयासों के कारण, यह एक महत्वपूर्ण संगठन बन गया है जो लोगों को स्वस्थ और सुरक्षित रखने का कारगर माध्यम बन गया है। इसके उद्देश्यों और कार्यों के माध्यम से, WHO ने विश्व स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में अद्वितीय योगदान दिया है और उसकी उच्चतम स्थिति में सहायक बनने का संकल्प किया है।

FAQs

क्या WHO केवल बीमारियों का इलाज करती है या उसके और भी उद्देश्य हैं?

WHO केवल बीमारियों का इलाज नहीं करती, बल्कि उसका उद्देश्य है सभी लोगों की स्वास्थ्य में सुधार करना।

क्या WHO के पास अपना वैक्सीन है?

नहीं, WHO खुद वैक्सीन नहीं बनाती है, लेकिन यह वैक्सीनों के अनुकूलित वितरण में और उनके उपयोग में सहायता करती है।

क्या WHO किसी देश की स्वास्थ्य नीति में हस्तक्षेप करता है?

WHO का उद्देश्य सभी देशों की स्वास्थ्य में सुधार करना है, लेकिन इसका किसी भी देश की नीति में हस्तक्षेप नहीं होता।

WHO के प्रमुख क्षेत्रों में से क्या-क्या हैं?

WHO के प्रमुख क्षेत्रों में समझदारी बीमारियाँ, असमझदारी बीमारियाँ, और महामारियों का नियंत्रण शामिल हैं।

क्या WHO के बजट में अंतरराष्ट्रीय सहयोग भी शामिल है?

हाँ, WHO के बजट में अंतरराष्ट्रीय सहयोग भी शामिल है, जो देशों के बीच सहयोग और पूर्ण स्वास्थ्य सुझाव के लिए इस्तेमाल होता है।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *